9 जनवरी 2020 करेण्ट अफेयर्स

कोयला क्षेत्र । अध्यादेश । क्रूज़ ज्यूलरी प्रदर्शिनी । ईरान विमान क्रैश । भारत बंद । कृत्रिम मानव ।

Posted on Jan 09, 2020 00:51 IST in Current Affairs.

User Image
4077 Followers
626 Views

1) केन्द्रीय कैबिनेट ने 8 जनवरी 2020 को खनिज कानून (संशोधन) अध्यादेश 2020 (Mineral Laws (Amendment) Ordinance 2020) को मंजूरी प्रदान कर दी। यह अध्यादेश किन दो व्यावसायिक क्षेत्रों को छोड़कर अन्य सभी क्षेत्रों को कोयला खनन की मंजूरी प्रदान करता है? - इस्पात और ऊर्जा (खनिज कानून संशोधन अध्यादेश 2020 का मुख्य उद्देश्य देश के कोयला खनन क्षेत्र में अधिक निवेश को आकर्षित करना है। इसमें प्रावधान किया गया है कि इस्पात और ऊर्जा क्षेत्र में संलग्न कम्पनियों को छोड़कर और सभी क्षेत्रों की कोई भी कम्पनी अब देश के कोयला खनन क्षेत्र में काम कर सकेगी। यह अध्यादेश कोयला खनन क्षेत्र में कोल इण्डिया लिमिटेड (Coal India Limited – CIL) के एकाधिकार को समाप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है। इस सम्बन्ध में कोयला मंत्री का कहना है कि दुनिया में चौथा सबसे बड़ा कोयला भण्डार होने के बावजूद भारत ने पिछले वर्ष 23.5 करोड़ टन कोयला आयात किया था। जबकि भारत इसमें से 13.5 करोड़ टन कोयले की पूर्ति भारत अपने भण्डार से कर सकता था)

.................................................................

2) जनवरी 2020 के दौरान दुनिया की पहली क्रूज़ शिप पर आयोजित ज्यूलरी प्रदर्शिनी (jewellery exhibition on-board a cruise ship) का आयोजन किया गया। किस भारतीय क्रूज़ शिप पर यह आयोजन किया गया? - जलेश कर्निका (एसेल समूह (Essel Group) की क्रूज़ कम्पनी जलेश क्रूज़ (Jalesh Cruise) के क्रूज़ शिप जलेश कर्निका (Jalesh Karnika) पर दुनिया की अपनी तरह की पहली ज्यूलरी प्रदर्शिनी 6 से 9 जनवरी 2020 के बीच आयोजित की गई। यह पहला मौका था जब कोई ज्यूलरी प्रदर्शिनी किसी क्रूज़ शिप पर आयोजित की गई हो। यह आयोजन मुम्बई पोर्ट ट्रस्ट (Mumbai Port Trust) से शुरू हुआ तथा अपने 4-दिवसीय आयोजन के दौरान यह शिप अरब सागर (Arabian Sea) की यात्रा पर भी गया। इस आयोजन का उद्देश्य भारत में क्रूज़ पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ जेवर के व्यवसाय को प्रोत्साहन देना था। इसके लिए पर्यटन मंत्रालय (Ministry of Tourism) और जहाजरानी मंत्रालय (Ministry of Shipping) दोनों ने हाथ मिलाया)

.................................................................

3) 8 जनवरी 2020 को तड़के यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइन्स (Ukraine International Airlines) का बोइंग 737 (Boeing 737) जेट विमान टेक-ऑफ लेने के कुछ ही देर बाद ईरान (Iran) में दुर्घटनाग्रस्त हो गया तथा इसमें जहाज में सवार सभी 170 लोग मारे गए। यह विमान किन दो शहरों के बीच की उड़ान पर था? - तेहरान से कीव (यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइन्स (UIA) द्वारा संचालित यह बोइंग 737 जेट यात्री विमान तेहरान (Tehran) के इमाम खोमेनी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Imam Khomeini International Airport) से यूक्रेन के कीव (Kiev) स्थित बोरिस्पिल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Boryspil International Airport) की नियमित उड़ान पर था तथा तेहरान से टेक-ऑफ लेने के कुछ ही देर बाद यह रोबत करीम काउंटी के परांड (Parand) शहर के पास गिर कर क्षत-विक्षत हो गया। इस दुर्घटना में कोई यात्री नहीं बचा। यह विमान तीन वर्ष पुराना बोइंग 737-800 (Boeing 737-800) विमान था तथा इसकी आपूर्ति बोइंग कम्पनी ने जुलाई 2016 में ही की थी। इस दुर्घटना के बाद बोइंग एक बार फिर दबाव में गई क्योंकि विमान गिरने का अभी तक तकनीकी कारण ही माना जा रहा है। बोइंग के 2 मैक्स (MAX) विमान इसी तरह अक्टूबर 2018 में मार्च 2019 में दुर्घटनाग्रस्त हुए थे)

.................................................................

4) नरेन्द्र मोदी सरकार की कथित मजदूर-विरोधी आर्थिक नीतियों के विरोध में भारत के तमाम कर्मचारी और मजदूर संघों द्वारा आहूत एक-दिवसीय "भारत-बंद" (Bharat-Bandh) 8 जनवरी 2020 को आयोजित किया गया। यह इस प्रकार का 19वाँ देशव्यापी भारत-बंद था। ऐसा  बंद पहली बार कब आयोजित किया गया था? - 1991 में (सरकार की मजदूर-विरोधी और नव-सुधारवादी आर्थिक नीतियों के खिलाफ देश में पहली बार भारत-बंद का आयोजन 27 नवम्बर 1991 को किया गया था। वह भारत-बंद तत्कालीन वित्त मंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) द्वारा प्रस्तुत नई सुधारवादी आर्थिक नीतियों की घोषणा के मात्र 5 माह बाद आयोजित किया गया था। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 के बाद देश में ऐसे 4 भारत-बंद आयोजित किए जा चुके हैं - 2 सितम्बर 2015 को, 2 सितम्बर 2016 को, 8-9 जनवरी 2019 को और अब 8 जनवरी 2020 को)

.................................................................

5) सैमसंग (Samsung) द्वारा समर्थित स्टारलैब्स (STARLabs) ने लास वेगास (Las Vegas) में आयोजित होने वाले दुनिया के सबसे बड़े टेक-शो सीईएस (CES) के दौरान दुनिया के पहले "कृत्रिम मानव" (‘Artificial Human’) का प्रदर्शन किया। अपने तरह की पहली कृत्रिम मानव श्रृंखला का क्या नाम रखा गया है? - नियॉन (नियॉन (NEON) कम्प्यूटर द्वारा बनाया गया ऐसा कृत्रिम मानव है जो देखने में तथा व्यवहार में पूरी तरह कृत्रिम मानव की तरह आचरण करता है। यह बुद्धि के अलावा संवेदनाएं प्रदर्शित करने में भी सक्षम है। इसके बारे में स्टारलैब्स का कहना है कि इसको बनाने में आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस (AI) का इस्तेमाल बिल्कुल उस तरह से किया है जैसे उसे किया जाना चाहिए)

.................................................................

| Current Affairs | Current Affairs 2019 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking  Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | January 2020 | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी | समसामायिकी | जनवरी 2020 | 2020 समसामायिकी | 2020 करेण्ट अफेयर्स | कोयला क्षेत्र । अध्यादेश । क्रूज़ ज्यूलरी प्रदर्शिनी । ईरान विमान क्रैश । भारत बंद । कृत्रिम मानव ।

Read more