8 जनवरी 2020 करेण्ट अफेयर्स

इसरो | मानवीय अंतरिक्ष उड़ान केन्द्र | ले. जनरल. पी.एन. हून | टी.एन. चतुर्वेदी | झारखण्ड विधानसभा अध्यक्ष | GDP वृद्धि द

Posted on Jan 08, 2020 02:23 IST in Current Affairs.

User Image
4004 Followers
309 Views

1) 6 जनवरी 2020 को की गई घोषणा के अनुसार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का मानवीय अंतरिक्ष उड़ान केन्द्र (Human Space Flight Centre - HSFC) 2,700 करोड़ रुपए की लागत से किस स्थान पर स्थापित किया जायेगा? - चल्लाकेरे, कर्नाटक (कर्नाटक के चित्रदुर्ग (Chitradurga) जिले के चल्लाकेरे (Challakere) का नाम 6 जनवरी 2020 को उस समय चर्चा में आया जब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation - ISRO) ने 6 जनवरी 2020 को घोषणा की कि मानव-युक्त प्रक्षेपणों में जाने वाले अंतरिक्ष-यात्रियों को प्रक्षेपण देने के लिए उसका मानवीय अंतरिक्ष उड़ान केन्द्र (HSFC) यहाँ स्थापित किया जायेगा। बेंगलूरू-पुणे राजमार्ग पर स्थित 400 एकड़ क्षेत्र में यह केन्द्र 2,700 करोड़ रुपए की लागत से तीन वर्ष में बन कर तैयार हो जायेगा तथा यहाँ एक ही छत के नीचे अंतरिक्ष यात्रियों को समस्त प्रशिक्षण उपलब्ध हो सकेगा। उल्लेखनीय है कि 2022 के प्रस्तावित गगनयान मिशन के लिए चुने गए चार भारतीय अंतरिक्ष-यात्रियों को प्रशिक्षण के लिए रूस (Russia) भेजा जायेगा तथा इसपर देश को बहुत धन व्यय करना पड़ता है)

...........................................................

2) 6 जनवरी 2020 को दिवंगत हुए सेवानिवृत्त ले. जनरल. पी.एन. हून (Lieutenant General PN Hoon) का सम्बन्ध भारतीय सशस्त्र सेनाओं द्वारा संचालित किस सुप्रसिद्ध ऑपरेशन से था? - "ऑपरेशन मेघदूत" - “Operation Meghdoot” (जम्मू व कश्मीर के सियाचिन ग्लेशियर (Siachen Glacier) को भारतीय क्षेत्र में मिलाने के उद्देश्य से भारतीय सशस्त्र सेनाओं ने 14 अप्रैल 1984 को जिस अभियान को संचालित किया था उसका नाम "ऑपरेशन मेघदूत" था। इसका नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल प्रेम नाथ हून ने किया था, जिनका 6 जनवरी 2020 को 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया। "ऑपरेशन मेघदूत" के कारण ही सियाचिन युद्ध हुआ था जो दुनिया में सबसे ऊँचाई वाले क्षेत्र में लड़ा गया युद्ध था। भारतीय सेनाओं ने इस ऑपरेशन में सफलता हासिल की थी तथा इसी के चलते सियाचिन भारत का हिस्सा बना था)

...........................................................

3) बोफोर्स घोटाले (Bofors Scam) पर से पर्दा उठाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भारत के पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) त्रिलोकी नाथ चतुर्वेदी (T.N. Chaturvedi) का 6 जनवरी 2020 को निधन हो गया। उन्होंने किस राज्य के राज्यपाल की भूमिका भी निभाई थी? - कर्नाटक (1984 से 1989 तक भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (Comptroller and Auditor General - CAG) रहे त्रिलोकी नाथ चतुर्वेदी के कार्यकाल में ही सीएजी की एक रिपोर्ट के चलते यह तथ्य सामने आया था कि स्वीडन की बोफोर्स तोप के सौदे में दलाली दी गई थी। बाद में 1991 में उन्हें देश का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म विभूषण (Padma Vibhushan) प्रदान किया गया था। अगस्त 2002 से वर्ष 2007 तक वे कर्नाटक (Karnataka) राज्य के राज्यपाल भी रहे थे। 90 वर्ष की आयु में खराब स्वास्थ्य के चलते 6 जनवरी 2020 को नोएडा के एक अस्पताल में उनका निधन हो गया)

...........................................................

4) झारखण्ड (Jharkhand) की वर्तमान विधानसभा का नया अध्यक्ष (Assembly Speaker) 7 जनवरी 2020 को किसे चुना गया? - रबीन्द्र नाथ महतो (झारखण्ड मुक्ति मोर्चा (JMM) के विधायक रबीन्द्र नाथ महतो (Rabindra Nath Mahato) को 7 जनवरी 2020 को झारखण्ड विधानसभा का नया अध्यक्ष चुना गया। वे पहली बार राज्य की नाला (Nala) विधानसभा सीट से वर्ष 2005 में चुने गए थे लेकिन बाद के चुनावों में वे यहाँ से हार गए। उन्होंने अपनी सीट पर 2014 में कब्जा करने में सफलता हासिल की तथा इस बार (2019) में फिर अपनी सीट कायम रखने में सफल हुए)

...........................................................

5) केन्द्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (Central Statistical Office - CSO) ने 7 जनवरी 2020 को वर्ष 2019-20 के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था की सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर (GDP growth rate) कितनी रहने का अग्रिम अनुमान (advance estimate) लगाया? - 5% (केन्द्रीय सांख्यिकीय कार्यालय ने अनुमान लगाया है कि वर्ष 2019-20 के दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि दर मात्र 5% रहेगी। यह आंकड़ा पिछले वर्ष (2018-19) की वृद्धि दर (6.8%) के मुकाबले काफी कम है। यह अनुमान दो तिमाही वृद्धि दर के आंकड़ों को देखकर लगाया गया है। सीएसओ की इस रिपोर्ट में आर्थिक दर में इतनी कमी का मुख्य कारण देश के मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र में आई भारी गिरावट को माना गया है)

...........................................................

6) देश का कौन सा अर्द्ध-सैनिक बल वर्ष 2020 को "ईयर ऑफ मोबिलिटी" (“Year of Mobility”) के तौर पर मनाकर इस वर्ष अपने जवानों के कल्याण और उनकी आवासीय सुविधाओं को बेहतर करने पर जोर देगा? - केन्द्रीय औद्यौगिक सुरक्षा बल - Central Industrial Security Force (केन्द्रीय औद्यौगिक सुरक्षा बल  (CISF) वर्ष 2020 को "ईयर ऑफ मोबिलिटी" के रूप में मनायेगा। इसके तहत बल अपने जवानों की आवासीय सुविधाओं को बढ़ाने तथा एक स्थान से दूसरे स्थान पर उनकी तैनाती के समय बेहतर स्थानांतरण सुविधाओं और तमाम और सुविधाओं को बढ़ाने पर जोर देगा। यह घोषणा बल के महानिदेशक (DG) राजेश रंजन (Rajesh Ranjan) ने 6 जनवरी 2020 को की)
...........................................................

| Current Affairs | Current Affairs 2019 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking  Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | January 2020 | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी | समसामायिकी | जनवरी 2020 | 2020 समसामायिकी | 2020 करेण्ट अफेयर्स | इसरो | मानवीय अंतरिक्ष उड़ान केन्द्र | ले. जनरल. पी.एन. हून | टी.एन.  चतुर्वेदी | झारखण्ड विधानसभा अध्यक्ष | GDP वृद्धि दर  अनुमान | ईयर ऑफ मोबिलिटी |

Read more