29-30 नवम्बर 2018 करेण्ट अफेयर्स

GDP संशोधित आंकड़ा | हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह | नए UPSC अध्यक्ष | शतरंज विश्व चैम्पियनशिप |

Posted on Nov 30, 2018 01:36 IST in Current Affairs.

User Image
3133 Followers
553 Views

1) केन्द्र सरकार ने 28 नवम्बर 2018 को वर्ष 2005-06 से 2011-12 के बीच के वर्षों के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का संशोधित (revised) आंकड़ा जारी किया। इन आंकड़ों के अनुसार कांग्रेस के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के शासन काल के इन वर्षों में देश की विकास दर उतनी नहीं थी जैसे पूर्वानुमानों में घोषित किया गया था। इस नए संशोधित आंकड़ों के लिए क्या आधार-वर्ष (Base Year) लिया गया है? – 2011-12

विस्तार: 28 नवम्बर 2018 को जारी पिछले वर्षों के संशोधित अनुमानों के अनुसार 31 मार्च 2014 को समाप्त हुई नौ वर्षों की समयावधि के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था की औसत विकास दर (average growth rate) 6.67% रही थी। इन वर्षों के दौरान केन्द्र में कांग्रेस (Congress) के नेतृत्व वाली संप्रग (UPA) सरकार सत्ता पर काबिज थी। वहीं संशोधित अनुमानों के अनुसार 31 मार्च 2018 को समाप्त हुई 4 वर्षों की समयावधि के दौरान, जिस दौरान नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) प्रधानमंत्री के रूप में काबिज रहे, देश की औसत विकास दर 7.35% रही है। इन आंकड़ों में यह खुलासा भी किया गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था ने सर्वाधिक विकास दर 2010-11 के दौरान हासिल की थी लेकिन यह पूर्वानुमानित 10.3% के बजाय 8.5% थी।

- उल्लेखनीय है कि अभी तक वर्ष 2004-05 को उपरोक्त वर्षों की विकास दर की गणना के लिए आधार वर्ष (Base Year) के तौर पर लिया गया था जबकि अब 2011-12 को बेहतर मान कर सरकार ने इसे आधार वर्ष ले कर संशोधित आंकड़े तैयार किए हैं। लेकिन इन नए आंकड़े को जारी करने के बाद कांग्रेस पार्टी तथा सत्ताधारी भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।

.............................................................................

2) भारत के पहले हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह (India’s first-ever hyper spectral imaging satellite) का क्या नाम है जिसे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने पीएसएलवी सी-43 रॉकेट के माध्यम से 29 नवम्बर 2018 को 30 अन्य उपग्रहों के साथ सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किया? – “HysIS”

विस्तार: “HysIS” भारत के पहले हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह (India’s first-ever hyper spectral imaging satellite) को दिया गया नाम है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने 29 नवम्बर 2018 को आन्ध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा (Sriharikota) स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से पीएसएलवी सी-43 (PSLV C-43) रॉकेट के माध्यम से इस उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया तथा कुछ समय बाद इसे अपनी अपेक्षित कक्षा में स्थापित भी कर दिया गया।

- इस प्रक्षेपण में के साथ 30 अन्य उपग्रह का प्रक्षेपण भी किया गया। इसमें से 23 उपग्रह अमेरिका के हैं जबकि एक-एक उपग्रह क्रमश: ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलम्बिया, फिनलैण्ड, मलेशिया, नीदरलैण्ड्स और स्पेन का है। यह प्रक्षेपण पीएसएलवी के कोर-अलोन संस्करण  (core-alone version) का 13वाँ तथा पीएसएलवी (PSLV) श्रृंखला का कुल 45वाँ प्रक्षेपण था।

- “HysIS” पृथ्वी पर निगरानी रखने वाला एक उपग्रह है जो नियमित ऑप्टिकल तथा दूर-संवेदी कैमरों के मुकाबले कहीं अधिक साफ व स्पष्ट तस्वीरें भेजने में सक्षम है। इस उपग्रह का प्रयोग तमाम कार्यों के लिए किया जा सकता है जैसे कृषि, वन, पृथ्वी के अध्ययन, प्रतिरक्षा, तटीय क्षेत्रों की निगरानी, आदि। यह इस श्रेणी का भारत का पहला उपग्रह है।

.............................................................................

3) केन्द्र सरकार ने 27 नवम्बर 2018 को ग्राउण्ड हैण्डलिंग सेवा (ground handling servives) में संलग्न एयर इण्डिया (Air India) के किस सहयोगी उपक्रम (subsidiary) में अपनी 100% हिस्सेदारी को रणनीतिक विनिवेश (100% strategic disinvestment) के तहत बेचने का फैसला लिया? - एयर इण्डिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज़ लिमिटेड (Air India Air Transport Services Limited - AIATSL)

विस्तार: केन्द्रीय वित्त मंत्री के नेतृत्व वाली अंतर-मंत्रालयीय समिति (Air India Specific Alternate Mechanism) ने 27 नवम्बर 2018 को हुई अपनी बैठक में ग्राउण्ड हैण्डलिंग में संलग्न एयर इण्डिया की सहयोगी कम्पनी एयर इण्डिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज़ लिमिटेड (Air India Air Transport Services Limited - AIATSL) में 100% रणनीतिक विनिवेश करने का फैसला लिया। हिस्सेदारी में इस बिक्री के द्वारा सरकार एयर इण्डिया पर लदे कर्ज के भारी-भरकम बोझ को कुछ घटाने की मंशा रखती है।

- AIATSL देश के अधिकतर हवाई-अड्डों पर ग्राउण्ड हैण्डलिंग सेवाएं प्रदान करती हैं। इसका परिचालन फरवरी 2013 में शुरू किया गया था।

.............................................................................

4) शतरंज के मौजूदा विश्व चैम्पियन नॉर्वे के मैग्नस कार्लसन (Magnus Carlsen) ने एक बार फिर अपने विश्व खिताब को कायम रखने में सफलता हासिल की जब 28 नवम्बर 2018 को उन्होंने उनको चुनौती पेश करने वाले अमेरिकी ग्राण्डमास्टर फैबियानो करुआना (Fabiano Caruana) को रैपिड टाइब्रेकर में 3-0 से हरा दिया। इस खिताबी जीत के साथ कार्लसन अब तक विश्व शतरंज चैम्पियनशिप का खिताब कितनी बार जीत चुके हैं? - चार बार

विस्तार: नॉर्वे (Norway) के मैग्नस कार्लसन (Magnus Carlsen) ने अपना पहला विश्व शतरंज चैम्पियनशिप (World Chess Championship) खिताब 2013 में जीता था जब उन्होंने भारत के 5-बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद (Viswanathan Anand) को हराया था। इसके बाद उन्होंने 3 बार अपने खिताब की रक्षा करने में सफलता की है - 2014 में विश्वनाथन आनंद के खिलाब, 2016 में रूस (Russia) के सर्गेई कर्जाकिन (Sergey Karjakin) के खिलाफ और अब 2018 में करुआना (Caruana) के खिलाफ। इस प्रकार कार्लसन अब तक कुल 4 विश्व शतरंज चैम्पियनशिप जीत चुके हैं।

- लंदन (London) में आयोजित 2018 के विश्व शतरंज चैम्पियनशिप फाइनल में वर्तमान चैम्पियन नॉर्वे के मैग्नस कार्लसन अमेरिका के फैबियानो करुआना ने चुनौती दी थी। दोनों के बीच 12 नियमित बाजियाँ बराबर रहने के बाद 28 नवम्बर 2018 को 5 राउण्ड के रैपिड टाईब्रेकर का आयोजन किया गया जिसमें कार्लसन ने लगातार 3 बाजियाँ जीतकर अपराजेय बढ़त ले ली।

- उल्लेखनीय है कि करुआना 1972 में बॉबी फिशर (Bobby Fischer) की खिताबी जीत के बाद यह प्रतिष्ठित खिताब जीतने वाले पहले अमेरिकी खिलाड़ी बनने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वे सफल नहीं हुए।

.............................................................................

5) राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने 28 नवम्बर 2018 को किसे संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission - UPSC) का नया अध्यक्ष (Chairman) नियुक्त किया? - अरविन्द सक्सेना (Arvind Saxena)

विस्तार: अरविन्द सक्सेना (Arvind Saxena) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द (President Ram Nath Kovind) ने 28 नवम्बर 2018 को संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission - UPSC) का नया अध्यक्ष (Chairman) नियुक्त किया। वे अभी तक आयोग के सदस्य थे।

- उन्होंने दिल्ली इंजीनियरिंग कॉलेज (Delhi College of Engineering) से सिविल इंजीनियरिंग की ग्रेजुएट डिग्री (B.Tech) हासिल की थी तथा इसके बाद आईआईटी दिल्ली से सिस्टम्स मैनेजमेण्ट में इंजीनियरिंग की स्नातकोत्तर उपाधि (M.Tech) हासिल की थी। इसके बाद 1978 में वे भारतीय सिविल सेवा में चयनित हुए थे तथा भारतीय डाक सेवा (Indian Postal Service) में शामिल किए गए थे।

- संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष का उनका कार्यकाल उनके यह पद ग्रहण करते ही शुरू हो जायेगा तथा 65 वर्ष की आयु हासिल करने तक 7 अगस्त 2020 अथवा इस सम्बन्ध में की गई किसी नई घोषणा तक जारी रहेगा। वे मई 2015 में UPSC के सदस्य बनाए गए थे।

.............................................................................

6) केन्द्रीय कौशल मंत्रालय ने राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (National Skill Development Corporation - NSDC) के अध्यक्ष (Chairman) के पद पर किसकी नियुक्ति करने की घोषणा 28 नवम्बर 2018 को की? - ए.एम. नाइक (A.M. Naik)

विस्तार: इंजीनियरिंग तथा निर्माण क्षेत्र की दिग्गज कम्पनी लार्सन एण्ड टूब्रो (Larsen and Toubro – L&T) के अध्यक्ष ए.एम. नाइक (A.M. Naik) को राष्ट्रीय कौशल विकास निगम का नया अध्यक्ष (Chairman) बनाया गया है।

- राष्ट्रीय कौशल विकास निगम केन्द्र सरकार के लघु-अवधि के कौशल विकास कोर्सेज़ को संचालित करता है। प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) का परिचालन भी इस निगम द्वारा ही किया जाता है।

- नवम्बर 2016 में तत्कालीन अध्यक्ष एस. रामदोराई (S. Ramadorai) द्वारा राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद यह निगम बिना किसी अध्यक्ष के कार्य कर रहा था।

.............................................................................

| Current Affairs | Current Affairs 2018 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking  Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी | समसामायिकी | 2018 समसामायिकी | नवम्बर 2018 | 2018 करेण्ट अफेयर्स | GDP संशोधित आंकड़ा | हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह | नए UPSC अध्यक्ष | शतरंज विश्व चैम्पियनशिप |

Read more