2-4 अगस्त 2018 करेण्ट अफेयर्स

1 ट्रिलियन डॉलर | बाज़ार पूँजीकरण | एप्पल | प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना | एयर इण्डिया | खाद्य पदार्थ | टॉलीन |

Posted on Aug 04, 2018 11:48 IST in Current Affairs.

User Image
2756 Followers
883 Views

1) 2 अगस्त 2018 को कौन सी कम्पनी 1 ट्रिलियन डॉलर (1 लाख करोड़ डॉलर - US$1 Trillion) के बाज़ार पूँजीकरण (Market Capitalization) को पार करने वाली पहली अमेरिकी कम्पनी बन गई? - एप्पल (Apple Inc.)

विस्तार: अमेरिका की दिग्गज टैक्नोलॉजी कम्पनी एप्पल इंक (Apple Inc.) का बाज़ार पूँजीकरण (Market Capitalization) 2 अगस्त 2018 को 1 ट्रिलियन डॉलर (1 लाख करोड़ डॉलर - US$1 Trillion) के स्तर को पार कर गया। इसके साथ ही यह कम्पनी इस स्तर तक पहुँचने वाली पहली अमेरिकी कम्पनी बन गई। इस दिन कम्पनी के शेयर भाव लगभग 2.9% बढ़कर 207.39 डॉलर के स्तर तक पहुँच गए जो अभी तक का अधिकतम भाव है।

- 90 के दशक के अंतिम वर्षों में अपनी मृत्युशैय्या पर पड़ी इस कम्पनी को इसके सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स (Steve Jobs) ने आईफोन (iPhone) के विकास के साथ एक दिग्गज कम्पनी में तब्दील करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। iPhone की मांग ने एप्पल को दुनिया की सबसे मूल्यवान कम्पनियों में से एक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

- हालांकि एप्पल 1 ट्रिलियन डॉलर के मूल्य तक पहुँचने वाली दुनिया की पहली कम्पनी नहीं है। वर्ष 2007 में चीन की सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कम्पनी पेट्रोचाइना क. (PetroChina Co.) का बाजार मूल्य भी इस स्तर को पार कर गया था लेकिन कम्पनी के जटिल ढांचे के कारण इस मूल्यांकन को वैसी प्रसिद्धि हासिल नहीं हुई थी। वहीं सऊदी अरब की तेल कम्पनी सऊदी अरमाको (Saudi Aramco) को अनाधिकारिक रूप से विश्व की सबसे मूल्यवान कम्पनी होने का दर्जा हासिल है तथा इसके शेयर सूचीबद्ध न होने के बावजूद इसका मूल्य लगभग 2 ट्रिलियन डॉलर बताया जाता रहा है।

..............................................................

2) गरीबी रेखा के नीचे (BPL) जीवनयापन करने वाले नागरिकों को नि:शुल्क एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने की केन्द्र सरकार की महात्वाकांक्षी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana - PMUY) ने हाल ही में कौन सा बड़ा लक्ष्य हासिल किया है, जिसके बारे में 3 अगस्त 2018 को घोषणा की गई? - 5 करोड़ लाभार्थी

विस्तार: केन्द्रीय तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने 3 अगस्त 2018 को घोषणा की कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana - PMUY) के तहत 28 माह के भीतर 5 करोड़ घरेलू गैस कनेक्शन लाभार्थियों को वितरित किए जा चुके हैं। इस महत्वपूर्ण लक्ष्य को हासिल करने के उपलक्ष्य पर इस दिन लोकसभा अध्यक्षा सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने संसद भवन में 5 करोड़वाँ कनेक्शन लाभार्थी को प्रदान किया।

- गरीबी रेखा से नीचे रह रहे परिवारों (BPL families) को नि:शुल्क घरेलू गैस (LPG) कनेक्शन प्रदान करने की इस योजना की शुरूआत केन्द्र सरकार ने 1 मई 2016 को की थी तथा तब 31 मार्च 2019 तक 5 करोड़ लोगों को इस योजना का लाभ पहुँचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लेकिन इस लक्ष्य को 28 माह से भी कम समय में हासिल कर केन्द्र सरकार ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

- इस महात्वाकांक्षी योजना को केन्द्रीय तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा उसकी तेल मार्केटिंग कम्पनियों - इण्डियन ऑयल (IOC), भारत पेट्रोलियम क. लिमिटेड (BPCL) और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम क. लिमिटेड (HPCL) तथा उनके वितरण नेटवर्क द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा है।

..............................................................

3) सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कम्पनी एयर इण्डिया (Air India) में 1 अगस्त 2018 को किन दो हस्तियों की नियुक्ति गैर-अधिकारिक स्वतंत्र निदेशकों (non-official Independent Directors) के तौर पर की गई? - कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) और वाई.सी. देवेश्वर (Y.C.Deveshwar)

विस्तार: देश के दो प्रमुख उद्योगपतियों - कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) और वाई.सी. देवेश्वर (Y.C.Deveshwar) को सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कम्पनी एयर इण्डिया (Air India) में गैर-अधिकारिक स्वतंत्र निदेशकों (non-official Independent Directors) के तौर पर नियुक्त करने की घोषणा केन्द्र सरकार ने 1 अगस्त 2018 को की। यह संभवत: पहला मौका है जब देश के किसी प्रमुख सार्वजनिक प्रतिष्ठान में बड़े उद्योगपतियों को स्वतंत्र निदेशकों के तौर पर नियुक्त किया गया हो।

- कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) लगभग 44 अरब डॉलर मूल्य वाले आदित्य बिड़ला समूह (Aditya Birla Group) का नेतृत्व करते हैं जबकि वाई.सी. देवेश्वर (Y.C.Deveshwar) कोलकाता में मुख्यालय वाली अत्यंत विविधिकृत कम्पनी आईटीसी लिमिटेड (ITC Limited) के अध्यक्ष (Chairman) हैं।

..............................................................

4) भारतीय मानक ब्यूरो (Bureau of Indian Standards - BIS) ने जुलाई 2018 के दौरान खाद्य पदार्थों की पैकिंग में किन तीन घातक कैमिकल पदार्थों के प्रयोग पर प्रतिबन्ध लगा दिया? – टॉलीन (toluene), टाइटेनियम एसिटाइलासेटोनेट (titanium acetylacetonate) और थेलेट्स (phthalates)

विस्तार: 25 जुलाई 2018 को भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) की हुई एक आंतरिक बैठक में देश में खाद्य पदार्थों की पैकेजिंग में तीन घातक रसायनों – टॉलीन (toluene), टाइटेनियम एसिटाइलासेटोनेट (titanium acetylacetonate) और थेलेट्स (phthalates) के इस्तेमाल पर प्रतिबन्ध लगा दिया।

- इन तीन रसायनों में टॉलीन (Toulene) को सबसे घातक माना जाता है तथा इसका प्रयोग मुख्यत: पेंट के थिनर के तौर पर किया जाता है। प्लास्टिक पैकेजिंग की परतों में इस्तेमाल किए जाने वाले इस पदार्थ के चलते मानव यकृत (liver) और गुर्दे (kidney) को भारी नुकसान हो सकता है। हालांकि अभी तक टॉलीन का इस्तेमाल भारत में पैकेजिंग में धड़ल्ले से किया जाता रहा है लेकिन अधिकतर विकसित देशों में इसके इस्तेमाल पर पहले से ही प्रतिबन्ध लगा हुआ है।

..............................................................

| Current Affairs | Current Affairs 2018 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking  Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2018 समसामायिकी | 2018 करेण्ट अफेयर्स | अगस्त 2018 | 1 ट्रिलियन डॉलर | बाज़ार पूँजीकरण | एप्पल | प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना | एयर इण्डिया | खाद्य पदार्थ | टॉलीन | 

Read more